Sushma Swaraj meets Saudi King
Sushma Swaraj meets Saudi King

गुरुवार (8 फरवरी) को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सऊदी शाह सलमान बिन अब्दुल अजीज से मुलाकात की। दोनों नेताओं ने दो-पक्षीय रणनीतिक साझेदारी बढ़ाने पर चर्चा की। दोनों देश आर्थिक तौर पर कैसे विकास करें, इस पर भी विचार हुआ।

न्यूज वेबसाइट फर्स्टपोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, शाह सलमान ने सुषमा की मौजूदगी में राष्ट्रीय विरासत एवं संस्कृति महोत्सव जनाद्रियाह का उद्घाटन किया। भारत को इस उत्सव में ‘विशिष्ट अतिथि राष्ट्र’ का दर्जा दिया गया है। इसके लिए सुषमा ने सऊदी सरकार को धन्यवाद दिया।

ये खबर भी पढ़ें  सीरिया संकट: अमेरिका आतंकवाद की आड़ में मासूमों को बना रहा है निशाना, यौन शोषण का शिकार हो रही महिलाएं

कार्यक्रम के दौरान सुषमा ने पीएम नरेंद्र मोदी की 2016 में सऊदी अरब की यात्रा को याद किया। पीएम के इस दौरे में दोनों देशों के बीच साझेदारी बढ़ाने पर ज्यादा जोर दिया गया था। सुषमा ने कहा कि जनाद्रियाह उत्सव इस साझेदारी को और मजबूत बनाने का एक मौका देता है।

आधिकारिक बयान में कहा गया है कि ‘भारत के मूल्यों और परंपराओं को दिखाया गया।’ इस मौके पर भारतीय पैवेलियन बनाया गया है जिसकी थीम “सऊदी का दोस्त भारत” है। कुमार ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “ईएएम@ सुषमा स्वराज ने भारतीय पैवेलियन में शाह सलमान का स्वागत किया. उन्हें भारत की परंपराओं और आधुनिक पहलुओं से अवगत कराया. पैवेलियन की थीम सऊदी का दोस्त भारत है।”

ये खबर भी पढ़ें  अफगानिस्तान में 6 भारतीय इंजीनियर्स का तालिबान ने किया अपहरण, रिहाई की कोशिश जारी

रिपोर्ट के मुताबिक, सऊदी अरब की अपनी पहली यात्रा पर बुधवार को पहुंची सुषमा ने शाह सलमान से मुलाकात की। कुमार ने ट्वीट किया, “सभी क्षेत्रों में हमारी रणनीतिक साझेदारी को और बढ़ाने और एक-दूसरे के विकास के लिए साथ काम करने के कदमों पर चर्चा की गई।”

इससे पहले सुषमा ने अपने सऊदी समकक्ष आदेल अल-जुबेर से मुलाकात की। इस दौरान व्यापार, ऊर्जा, रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में दोपक्षीय संबंधों को बढ़ाने पर चर्चा हुई। रवीश कुमार ने बताया कि दोनों नेताओं के बीच व्यापार और निवेश बढ़ाने पर चर्चा हुई। साथ ही ऊर्जा, रक्षा, सुरक्षा और लोगों के संपर्क को और मजबूत करने पर केंद्रित थी। उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय और वैश्विक स्थितियों पर भी चर्चा की।

ये खबर भी पढ़ें  राज ठाकरे : बुलेट ट्रेन की एक भी ईट नहीं लगाने देंगे, जानिए क्यों कहा

बयान में सुषमा ने दोहराया कि क्षेत्र में शांति के लिए भारत का समर्थन है। उन्होंने आतंकवाद के खतरे से निपटने के लिए सामूहिक प्रयास किए जाने का आह्वान किया।

Source: hindi.firstpost.com