Press "Enter" to skip to content

गुजरात मे उत्तर भारतीयों पर अत्याचार करना शर्मनाक एव निन्दनीय : अन्सार सैफ़ी

Gujarat violence

राष्ट्रीय लोकदल युवा के प्रदेश सचिव अन्सार सैफ़ी ने जारी अपने बयान में कहा है की देशवासियो को प्रांतीय रूप से विभाजित करना उचित नही गुजरात में यूपी एवम बिहार के लोगो को जबरदस्ती हिंसा कर उन्हे मार पीटकर भय का माहौल बनाकर भगाया जा रहा है जो निंदनीय कार्य है!

Gujarat violence
Gujarat violence

इस घटना से देशवासी स्तब्ध है किसी भी राज्य का नागरिक देश के किसी भी राज्य में जाकर अपने जीवन यापन के लिये रोज़गार ढूंढ सकता है ये हर देशवासी का अधिकार है लेकिन हाल में हुई गुजरात की घटना ने सोचने पर विवश कर दिया है के सरकार की सभी को साथ लेकर चलने वाला नारा एकदम खोखला है राष्ट्रीय लोकदल ऐसी घटनाओ की कड़े शब्दो मे निंदा करता है!

जिससे देश एवम देशवासियो की एकता को तोड़ने का कार्य किया जाये , अब तक कई हज़ार उत्तर भारतीय लोग गुजरात छोड़ने को विवश हुये है जो सरासर अन्याय अत्याचार है देश के युवा वैसे ही बेरोज़गारी एवम महँगाई की मार झेल रहे है उस पर किसी को बेरोज़गार कर देना सबसे बुरा कार्य है क्योंकि एक आदमी के रोज़गार की वजह से उसका पूरा परिवार दो वक्त की रोटी खाता है!

Gujarat violence
Gujarat violence
Gujarat violence

अगर कोई किसी को रोज़गार दे नही सकता तो किसी को छीनने का भी अधिकार नही है एक अपराधी की वजह से पूरे समाज पूरे प्रान्त के लोगो को दोषी ठहराना गलत , अपराधी को प्रांतीय या धार्मिक चश्मे से देखना किसी की छोटी मानसिकता को दर्शाता है ये देश के भाईचारे एवम सभी का विकास सामान रूप से करने की नीति से छल करना है जिन लोगो पर अत्याचार किया जा रहा है केंद्र की सत्ता की चाबी उन्ही लोगो की बदौलत मिली  है!

गुजरात एवम केंद्र में बीजेपी की सरकार है तो ज़्यादा ज़िम्मेदारी इन्ही की है लॉ एंड ऑर्डर की समस्या को बेहतर करना एवम यूपी और बिहार के लोगो को सुरक्षा मुहैया कराना इनकी अहम ज़िम्मेदारी है जिसमे अभी तक तो ये नाकाम ही साबित हुये है हम मांग करते है की हिंसा करने वाले दोषियों के खिलाफ जल्द से जल्द कड़ी कार्यवाही होना चाहिये एवम जो लोग यूपी एवम बिहार के गुजरात छोड़ने पर मजबूर हुये उन्हें दोबरा काम पर वापस बुलाकर उन्हें आर्थिक रूप से मदद करने में अपना योगदान देना चाहिये , देश के सभी लोगो को जोड़कर रखने से ही देश तरक्की एवम विकास की ओर अग्रसर होगा नाकि मज़हबी या प्रांतीय रूप से बांटने में!

 

Facebook Comments
More from OpinionMore posts in Opinion »

Be First to Comment

%d bloggers like this: