भाजपा का महिला सम्मान एक दिखावा! महिला पार्टी कार्यकर्ता का आरोप, BJP नेता ने की जबरन ‘किस’ करने की कोशिश, व्हाट्सऐप पर भेजी अश्लील तस्वीरें

0
2
Woman party worker alleges Uttarakhand BJP leader

Woman party worker alleges Uttarakhand BJP leader

केंद्र की सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) महिलाओं की सुरक्षा और उनके सम्मान को लेकर जो बड़े-बड़े दावे करती है, वो तमाम दावे आज महज एक दिखावा साबित हो रहे है। गौरतलब है कि, ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ और ‘बेटी के सम्मान में भाजपा मैदान में’ जैसे बड़े-बड़े नारे देखर बीजेपी सत्ता में आई, लेकिन आज भाजपा के राज में देश महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित देश बन गया है।

सबसे बड़ी बात तो यह है कि, सत्तारूढ़ बीजेपी के नेता खुद महिलाओं का सम्मान नहीं करते। कई बार रेप, बलात्कार और यौन शोषण जैसे अपराध में भाजपा नेताओं के नाम सामने आते रहे हैं। इसी बीच, एक एसी खबर सामने आई है, जिसमें यह बात भी स्पष्ट हो गई है कि बीजेपी राज में देश में ही नहीं बल्कि पार्टी के अंदर भी महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं।

जी हाँ, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की महिला कार्यकर्ता ने उत्तराखंड के वरिष्ठ बीजेपी नेता संजय कुमार पर यौन उत्पीड़न करने और व्हाट्सएप पर अश्लील तस्वीरें और अश्लील संदेश भेजने का आरोप लगाया है। ऐसे में यह कहना बिलकुल भी गलत नहीं होंगा कि आज बेटियों को भाजपा नेताओं से बचाने की जरूरत है।

बता दें कि महिला कार्यकर्ता द्वारा यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद विवादों में आए उत्तराखंड के महासचिव संजय कुमार को पार्टी से पद से हटा दिया था। वहीं, अब शिकायत करने वाली महिला ने एक समाचार पत्र से बात करते हुए संजय कुमार पर कई गंभीर आरोप लगाए है।

sanjay-kumar-bjp
sanjay-kumar-bjp
Woman party worker alleges Uttarakhand BJP leader

महिला ने द इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में बीजेपी नेता पर आरोप लगाते हुए कहा, वह अभद्र टिप्पणियां करते थे। कम से कम दो बार उन्होंने मुझे जबरन किस करने की कोशिश की, कई बार पकड़ने की कोशिश की। वह इंटरनेट से डाउनलोड की गई अश्लील तस्वीरें नियमित तौर पर मुझे भेजते थे। उन्होंने वॉट्सऐप पर मुझे अपने प्राइवेट पार्ट की तस्वीरें भी भेजीं। हालांकि, भेजने के कुछ सेकंड बाद ही वह इन्हें डिलीट कर देते थे।

महिला ने बताया कि वह एक बीजेपी कार्यकर्ता है। महिला दिल्ली से है लेकिन देहरादून में रह रही है, जहां वह बीजेपी के कार्यालय में ‘डेटा एंट्री के काम’ कर रही है। उसका दावा है कि बीजेपी नेता ने इस साल पार्टी दफ्तर में कई बार उसका यौन उत्पीड़न किया। महिला के मुताबिक, उसने मौखिक तौर पर कई बीजेपी कार्यकर्ताओं और नेताओं को इसकी शिकायत की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

महिला ने कहा कि, ‘फरवरी में मुझे पार्टी के फंड जुटाने की स्कीम आजीवन सहयोग निधि के तहत मिलने वाले बैंक चेकों के डेटा की एंट्री का काम दिया गया था। मैं डेटा एंट्री के काम के लिए हर रोज पार्टी के दफ्तर जाती थी।’ इसी दौरान बीजेपी नेता से उसकी पहचान हुई।

महिला का यह भी आरोप है कि बीजेपी नेता ने कार्यकर्ताओं से उसका फोन छिनवा लिया जिसमें उसके और नेता के बीच की कुछ बातचीत सेव थीं। देहरादून पुलिस ने भी कहा कि उसे 4 अक्टूबर को महिला की तरफ से शिकायत मिली थी कि ‘दो लोगों’ ने उसका फोन ‘छीन’ लिया।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपी नेता संजय कुमार ने अभी तक इन आरोपों को कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। वहीं, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष अजय भट्ट ने 8 नवंबर को बताया था कि महासचिव को ‘उनकी दरख्वास्त पर’ पद से हटाया गया है।