Sanjiv Bhatt slams Modi govt on Jio institute.jpg
Sanjiv Bhatt slams Modi govt on Jio institute.jpg

Sanjiv Bhatt slams Modi govt on Jio institute

Install Ravish Kumar App

Install Ravish Kumar App Ravish Kumar.

रिलायंस ग्रुप के जियो इंस्टिट्यूट को शुरू होने से पहले ही इंस्टीट्यूट ऑफ एमनंस लिस्ट में शामिल किए जाने पर मोदी सरकार निशाने पर आ गई है। सोशल मीडिया पर इसे लेकर अब मजाक भी बनने लगा है। आईपीएस संजीव भट्ट ने भी इसे लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

न्यूज वेबसाइट बोलता यूपी.कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, संजीव भट्ट ने सोशल मीडिया पर लिखा नेहरु ने आईटी बनाये और आईआईएम मोदी ने जिओ इंस्टिट्यूट अपनी अपनी औकात की बात है। अब इसे मजाक कहा जाये या फिर कुछ और मगर मोदी सरकार पर इससे पहले भी मुकेश अंबानी को फायदा पहुँचाने के आरोप लगते रहे है।

Sanjiv Bhatt slams Modi govt on Jio institute

बता दें कि, केंद्र सरकार ने तीन सार्वजनिक और तीन निजी यूनिवर्सिटीज को इंस्टीट्यूट ऑफ एमनंस लिस्ट में शामिल किया गया। इंस्टीट्यूट ऑफ एमनंस संस्थानों के स्तर और उसकी क्वालिटी को तेजी से बेहतर बनाने में मदद करती है और सिलेबस को भी जोड़ा जायेगा। जिओ इंस्टिट्यूट पर सवाल उठने लगे है क्योंकि ये कंपनी फ़िलहाल कागज़ी है।

ये खबर भी पढ़ें  पाटन दंगों पर बोलीं शेहला, कहा- मुसलमानों के घर जलते रहे और मोदी की पुलिस तमाशा देखती रही

यूजीसी के अनुसार, जियो इंस्टिट्यूट के पास जियो इंस्टिट्यूट तीन साल बाद ही वजूद में आएगा तो इसके पास अधिक एटोनॉमी होगी। जिओ को ग्रीन फ़ील्ड कैटेगरी के अधीन चुना गया है।

इन्टरनेट पर अगर दो और कॉलेज के वेबसाइट पर जाकर देखें तो Bits pilani की वेबसाइट पर कोर्स की जानकारी है। मगर जिओ इंस्टिट्यूट की वेबसाइट ही नहीं और न ही उसने कोर्स की जानकारी दी है इसीलिए इसे प्रोजेक्टेड संस्थान कहा गया है।