Press "Enter" to skip to content

CBI के बाद अब केंद्र सरकार और RBI के बीच बढ़ रहा तनाव, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य बोले- ‘RBI को कमजोर कर रहे हैं मोदी’

RBI Deputy governor slams Modi Govt

देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के बीच पिछले कुछ दिनों से घमासान जारी है। मोदी सरकार सीबीआई में हस्तक्षेप को लेकर सवालों के घेरे में आ गई है। यहां तक की यह मामला अब देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट पहुँच गया है।

इसी बीच अब केंद्र सरकार और रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के गवर्नर के बीच नीतिगत मुद्दों को लेकर मतभेद की खबरें सामने आ रही हैं। आरबीआई के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने बताया है कि सरकार का दखल बढ़ता जा रहा है जोकि ठीक नहीं है।

टीओआई के हवाले से एक न्यूज वेबसाइट में छपी खबर के मुताबिक, 2018 के शुरुआती महीनों में सरकार और आरबीआई के बीच ज्यादा अच्छे संबंध नहीं रहे हैं और दोनों ही ओर से बात भी ज्यादा नहीं की जा रही है। आरबीआई के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य का कहना है कि आरबीआई की स्वायत्तता पर चोट किसी के हक में नहीं होगी। उन्होंने इस मुद्दे पर शुक्रवार को चिंता जाहिर की थी।

RBI Deputy governor slams Modi Govt

विरल के मुताबिक, ‘सरकार द्वारा आरबीआई के काम में दखल देने से बैंक की स्वायत्तता पर प्रभाव पड़ रहा है। इकोनॉमी में सुधार लाने के लिए आरबीआई सरकार से थोड़ा दूरी बनाना चाहती है लेकिन ऐसा हो नहीं पा रहा है। सरकार बैंक के कामों में हस्तक्षेप कर रही है, जो कि ठीक नहीं है।

मिली जानकारी के मुताबिक इस समय जो हालात बन रहे हैं उनका असर उर्जित पटेल के भविष्य पर भी पड़ सकता है। अगले साल सितंबर में उर्जित के तीन साल पूरे हो रहे हैं, ऐसे में उनके सेवा विस्तार और बाकी कार्यकाल पर खतरा मंडरा रहा है।

रिपोर्ट के मुताबिक ब्याज दरों में कटौती न होने पर सरकार नाराज है। नीरव मोदी के धोखाधड़ी मामले पर भी बैंक और सरकार के बीच स्थिति तनावपूर्ण है। वहीं 2018 की शुरुआत से ही करीब आधे दर्जन मुद्दों पर बैंक और सरकार के बीच मतभेद हैं। पटेल चाहते हैं कि सरकारी बैंकों पर नजर रखने के लिए आरबीआई को और शक्तिशाली बनाना चाहिए।

तमाम मतभेदों की वजह से सरकार में मौजूद लोग उर्जित पटेल पर निशाना साध रहे हैं। उनका कहना है कि रघुराम राजन, उर्जित से बेहतर गवर्नर थे।

Facebook Comments
More from IndiaMore posts in India »

Be First to Comment

%d bloggers like this: