राजस्थान चुनाव: पीएम मोदी को हर भाषण से पहले ‘भारत माता की जय’ बोलने के बजाए ‘अनिल अंबानी, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी की जय’ बोलना चाहिए- राहुल गांधी

0
2
Rahul Gandhi attacks PM Modi on farmers issue
Rahul Gandhi attacks PM Modi on farmers issue

राजस्थान में 7 दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राजनीतिक सरगर्मियां उफान पर हैं। राज्य में चुनाव प्रचार का आखिरी दौर चल रहा है। इसके साथ ही राजनीतिक बयानबाजी भी तेज हो गई है।

इसी बीच, मंगलवार (4 नवंबर) को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजस्थान के अलवर में एक सभा को संबोधित करते हुए देश में कर्ज माफी और फसलों के सही दाम नहीं मिलने को लेकर परेशान किसानों के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जोरदार हमला बोला है।

राहुल गांधी ने कहा, पीएम मोदी हर भाषण के पहले भारत माता की जय बोलते हैं। बजाए इसके उनको अनिल अंबानी की जय, मेहुल चोकसी की जय, नीरव मोदी की जय, ललित मोदी की जय बोलना चाहिए। अगर आप भारत माता की बात करते हैं तो किसानों को कैसे भूल सकते हैं।’

राहुल गांधी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, हिंदुस्तान के किसानों ने 45,000 करोड़ रुपये फसल बीमा के लिये दिया, जिसमें से 16,000 करोड़ रुपये अनिल अंबानी जैसों की जेब में गया है। ये फसल बीमा योजना नहीं अंबानी योजना है

बता दें कि, हाल ही के दिनों में देशभर से आए किसानों ने अपनी फसलों के वाजिब दाम और कर्जमाफी जैसी मांग को लेकर रामलीला मैदान से संसद मार्ग तक मार्च किया था। इसके बावजूद मोदी सरकार किसानों को लेकर संजीदा दिखाई नहीं दे रही है।

इतना ही नहीं, राजस्थान में राहुल गांधी ने रोजगार के मुद्दे को लेकर भी पीएम मोदी और राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर जमकर हमला बोला। राहुल गांधी ने कहा, हिंदुस्तान के इतिहास में पहली बार राजस्थान के 4 युवाओं ने आत्महत्या की। अगर मोदी जी, वसुंधरा जी ने युवाओं को रोज़गार दिया तो यहां 4 युवाओं ने आत्महत्या क्यों की?

बता दें कि, हाल ही में राजस्थान के 4 युवाओं ने बेरोजगारी से तंज़ आकार ट्रेन के आगे कूद गए थे। इनमें से 3 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसकी मौत इलाज के दौरान हो गई।

गौरतलब है कि,  राजस्थान में मतदान 7 दिसंबर को होना है और 11 दिसंबर को नतीजे आएंगे. राजस्थान में अभी 5 सालों से वसुंधरा राजे की अगुवाई में बीजेपी सत्ता में है। कांग्रेस को लगता है कि सीएम वसुंधरा के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर है और बीजेपी को हराया जा सकता है।

हालांकि कांग्रेस की ओर से किसी को भी सीएम पद का उम्मीदवार घोषित नहीं किया गया है। ये कांग्रेस के लिए नुकसान पहुंचा सकता है। वहीं बीजेपी ने अपना गढ़ बचाने के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है।