File Photo

protest-agitation-to-stop-evm-bharat-mukti-morcha

नागपुर: चुनाव में ईवीएम मशीनों को बंद करने के लिए भारत मुक्ति मोर्चा (BMM) देश भर में 25 मार्च से विरोध अभियान शुरू करेगा। अभियान 5 चरणों में होगा।

रविवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए बीएमएम के अध्यक्ष वामन मेश्राम ने कहा, “ईवीएम को प्रयोग करना संसार भर में खराब रहा है। उन्होने कहा हम ईवीएम के खिलाफ तब तक लड़ते रहेंगे जब तक इसका उपयोग बंद नहीं हो जाता।

 

Install Ravish Kumar App

Install Ravish Kumar App Ravish Kumar.

मेश्राम ने कहा कि उन्होंने चुनाव आयोग के खिलाफ एक याचिका दायर की है। जिसमें वोटर-सत्यापित पेपर ऑडिट ट्रेल (VVPAT) को ईवीएम में संलग्न करने की मांग की गई थी। लेकिन जानबूझकर इसमें विलंब किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें  देश में तलवारों और त्रिशूल के दम पर शासन चलाया जा रहा: जिग्नेश मेवाणी

इस देरी से केवल दो संगठनों, चुनाव आयोग और भाजपा को ही मदद मिलेगी। हम यदि अपने देश में लोकतंत्र को ज़िंदा रखना चाहते हैं, तो चुनाव में केवल बैलेट पेपर का ही उपयोग होना चाहिए। क्योंकि उसमें धांधली नहीं की जा सकती है। ”

सर्वोच्च न्यायालय में दायर की गई याचिका के बारे में मेश्राम ने कहा की मैंने चुनाव आयोग के खिलाफ अदालत की अवमानना ​​का मामला दर्ज किया था। सर्वोच्च न्यायालय ने 8 अक्टूबर, 2013 के फैसले के बारे में स्पष्ट रूप से कहा था कि ईवीएम मशीनों में धांधली की जा सकती है। इसलिए इसके साथ वीवीपीएटी से जोड़ा जाना चाहिए। लेकिन दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया गया है।

ये खबर भी पढ़ें  अब यूनिवर्सिटी टीचर्स को देनी होगी जाति-धर्म की जानकारी

 

मेश्राम ने यह भी आरोप लगाया कि चुनाव आयोग देश में चुनावों को लेकर केंद्र सरकार के दवाब में है। मेरे पत्र के जवाब में चुनाव आयोग ने कहा कि केंद्र सरकार वीवीपीएटी मशीनों के साथ लगाने के लिए धन उपलब्ध नहीं करवा रही है।

चुनाव आयोग एक स्वायत्त संस्था है इसलिए इसे राष्ट्रपति के पास जाना चाहिए। या प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन करना चाहिए क्योंकि नागरिकों को ये जानने का अधिकार है।

पहले चरण के आंदोलन में बीएमएम 72 घंटों के लिए धरना देगा। दूसरे चरण में पूरे शहर में रैली निकाली जाएगी। तीसरे चरण में ‘रोड रोको’ और चौथे में ‘रेलवे रोको’ अभियान चलाया जाएगा। और पांचवे चरण में रैली को जिले में बाहर ले जाया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें  नरेंद्र मोदी को २०१९ में पुनः जिताने की साजिश को उजागर करते वामन मेश्राम

प्रेस कॉन्फ्रेंस में राजकुमार थोरले, कुमार रविकांत, एएस पठान और अन्य उपस्थित थे।