India

पाटीदारों के इस नए नारे से बीजेपी की उड़ रही धज्जियाँ

Patidar new Slogan BJP fajihat

Patidar new Slogan BJP fajihat

Subscribe to our Hindi TRN

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी को पाटीदारो के आक्रोश से रूबरू होना पड़ रहा है। हालात यहाँ तक पहुँच गए हैं कि पाटीदार बाहुल्य इलाको में बीजेपी के खिलाफ पोस्टर और बैनर लगाए गए हैं।

जुड़ें हिंदी TRN से

पाटीदारो के विरोध का यह मामला सिर्फ गाँव देहात तक सीमित नहीं है बल्कि शहरी इलाको में पाटीदार बाहुल्य आवासीय सोसायटियों में भी मेंन गेट पर बीजेपी के खिलाफ बैनर लगा दिए गए हैं। जिनमे लिखा है कि “इस सोसायटी में धारा 144 लगी हुई है। मेहरबानी करके कोई कमल वाला (बीजेपी) इस सोसायटी में वोटो की भीख मांगे ने लिए प्रवेश न करे।”

ये खबर भी पढ़ें  मुख्य चुनाव अधिकारी ने गुजरात चुनाव में EVM में कुछ मशीनों की गड़बड़ी को माना

वहीँ दूसरी तरफ पाटीदारो द्वारा दिए गए नए नारे से बीजेपी की फजीहत बढ़ गयी है। गुजरात के कई इलाको में पाटीदारो द्वारा लगाए गए बैनरो में “सरदार (सरदार पटेल) लड़े थे गोरों (अंग्रेजो) से, हम लड़ रहे चोरो से,” वहीँ बीजेपी की फजीहत वाला एक और दूसरा नारा “सरदार ने भगाया गोरों को, हम भगाएंगे चोरों को” लिखा गया है।

कभी बीजेपी का परम्परागत वोट बैंक माने जाने वाले पाटीदार समुदाय के लोगों में इस बार बीजेपी को लेकर इस कदर विरोध है कि वे बीजेपी के प्रचार वाहनों पर अंडे और टमाटर फेंक रहे हैं। इतना ही नहीं सूरत और आसपास के इलाको में तो बीजेपी का प्रचार करने निकले लोगों को देखते ही पाटीदार आरक्षण आंदोलन से जुड़े कार्यकर्त्ता एकत्रित होकर बीजेपी के खिलाफ नारे लगाते हैं और हूटिंग करते हैं।

ये खबर भी पढ़ें  गुजरात चुनाव: हार्दिक का आरोप, कहा- बीजेपी के दबाव में कैंसल की गई जनसभा

Patidar new Slogan BJP fajihat

शुक्रवार को सूरत में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता जब अपने जनसंपर्क अभियान पर निकले तो पाटीदार के लोग उनसे भिड़ गए। पाटीदारों ने बीजेपी के विरोध में जमकर नारेबाजी की। इन नारों में ‘जय सरदार जय पाटीदार’, और ‘सरदार लड़े थे गोरों से हम लड़ेंगे चोरों से’ जैसे नारे शामिल हैं। इससे पहले पाटीदारो ने बीजेपी की गौरव यात्रा पर सवाल उठाये थे और उन्होंने गौरव यात्रा को कौरव यात्रा का नाम दिया था।

ये खबर भी पढ़ें  गुजरात: कांग्रेस नेता हरेश मोराडिया और पत्नी ने की आत्महत्या

दरअसल पाटीदारो और बीजेपी में बीच उस समय गहरी खाई पैदा हो गयी जब पाटीदारो ने आरक्षण की मांग को लेकर गुजरात में आंदोलन शुरू किया। इस दौरान हुई हिंसा में सरकारी सम्पत्ति के नुकसान का आरोप लगाते हुए सरकार की तरफ से पाटीदारो के खिलाफ कानूनी कार्रवाही करते हुए पाटीदार नेता हार्दिक पटेल सहित करीब दो दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किये गए।

Share this story with your friends, the truth needs to be told.

You could follow TR News posts either via our Facebook page or by following us on Twitter or by subscribing to our E-mail updates.

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

To Top