Press "Enter" to skip to content

मनोहर परिकर ने राष्ट्रगान पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को बताया गलत

Manohar Parikar SC wrong

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर परिकर ने राष्ट्रगान पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को गलत बताया है। दरअसल, देश में राष्ट्रगान के समय सिनेमा हौल में खड़े होने को लेकर बहुत सी घटनाए हुई थी जिसे ध्यान में रखते हुए 23 अक्टूबर को सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट द्वारा कहा गया था कि यह देश भक्ति साबित करने का कोई तरीका नहीं है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा दी गई इस टिप्पणी को मनोहर परिकर ने गलत कहा है। वह सुप्रीम कोर्ट के इस नतीजे से सहमत नहीं है।

खबर के मुताबिक, रविवार को गोमांतक बाल शिक्षण परिषद द्वारा आयोजित किए एक कार्यक्रम में शिक्षकों को सांबोधित करते हुए मनोहर परिकर ने अपने विचार शिक्षकों के सामने रखे। उन्होने सुप्रीम कोर्ट द्वारा की ग्क़ई टिप्पणी को मद्दे नजर रखकर कहा कि हालही में में एक फैसला आया था जिसमें की सुप्रीम कोपूर्त ने कहा था कि सिनेमा हौल में राष्ट्रगान के वख्त खड़ा होना जरूरी नहीं है। उन्होने कहा कि मई इस फैसले के गुण या दोष में नहीं जा रहा हु बल्कि यह कहना चाहता हूँ कि अगर ज्करूरत नहीं है तो फिर कोई व्यक्ति राष्ट्रगान को सम्मान ही नहीं देगा, मेरी राय में यह फैसला गलत है।

परिकर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद लोग सिनेमा हौल में राष्ट्रगान के वख्त खड़ा होना बंद कर देंगे। यह बातादू की सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि फिल्म शुरू होने से पहले  सिनेमा हौल में राष्ट्रगान अनिवारी है।देश में इसपर कई घटनाए सामने आई है। जिसमें राष्ट्रगान के समय खड़ा न होने की वजह से कई लोगों की पिटाई की गई। इसपर सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी की थी कि लोगों को अपनी देशभक्ति साबित करने के लिए राष्ट्रगान के समय खड़ा होना जरूरी नहीं है।

 

Facebook Comments
More from IndiaMore posts in India »

Be First to Comment

%d bloggers like this: