Press "Enter" to skip to content

‘सरकार के इशारे पर ABVP के गुंडों को बचाने के लिए CBI नजीब के केस को बंद कर रही है’- कन्हैया कुमार

Kanhaiya Kumar speaks JNU student Najeeb missing case

करीब 2 साल पहले जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) से लापता छात्र नजीब अहमद को देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) अब तक नहीं ढूंढ पाई है। ऐसे में दिल्ली हाईकोर्ट ने जेएनयू छात्र नजीब के गुमशुदगी मामले में सीबीआई को क्लोजर रिपोर्ट सौंपने की मंजूरी भी दे दी है।

गौरतलब है कि, साल 2016 में अक्टूबर महीने में एबीवीपी के कुछ छात्रों से लड़ाई होने के नजीब अहमद के गायब होने की बात आई थी। इसे लेकर जेएनयू समेत दिल्ली के कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन हुए और जांच की मांग की गई। इसके बाद ये मामला सीबीआई के पास गया। हालांकि अभी तक सीबीआई नजीब को नहीं ढूंढ पाई है।

JNU student Najeeb Ahmed missing case
JNU student Najeeb Ahmed missing case

खबर के मुताबिक, सोमबार (8 अक्टूबर) को न्यायाधीश एस. मुरलीधर और न्यायाधीश विनोद गोयल की पीठ ने नजीब की मां फातिमा नफीस की बंदी प्रत्यक्षीकरण की याचिका को खारिज करते हुए सीबीआई को क्लोजर रिपोर्ट दाखिल करने की अनुमति दी। पीठ ने कहा कि अहमद की मां निचली अदालत में अपनी बात रख सकती हैं, जहां रिपोर्ट दायर की गई है।

बता दें कि, छात्र की माँ फातिमा नफीस ने कोर्ट से मांग की थी इस मामले की जांच कर रही सीबीआई को हटाने और जांच के लिए विशेष जांच दल गठित (एसआईटी) हो।

Kanhaiya Kumar speaks JNU student Najeeb missing case

लेकिन कोर्ट ने इस मामले में अपना फैसला चार सितंबर को सुरक्षित रख लिया था। वहीं, सीबीआई हाईकोर्ट के याचिका ख़ारिज कर देने के बाद नजीब की माँ फातिमा ने कहा कि कोर्ट ने उनसे कहा वो अपनी बात निचली अदालत में रख सकती हैं और इतना कहकर पीठ ने याचिका का निपटरा कर दिया।

ANI की रिपोर्ट के मुताबिक, नजीब की माँ फातिमा ने कहा कि दो साल हो गए हमारी बहुत उम्मीद है कोर्ट से इसलिए हम हिले भी। सीबीआई ने कोर्ट को गुमराह किया है। हम इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट जायेंगें। ये सबकुछ इसलिए हो रहा है क्योकिं सत्ता में बैठे लोगों ने इस मामले में दबाव बनाया है।

Kanhaiya Kumar with Najeeb Mother
Kanhaiya Kumar with Najeeb Mother

इसी बीच, जेएनयू के पूर्व छात्र अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने ट्वीट करते हुए लिखा, ये बेहद शर्मनाक है कि सीबीआई नजीब को ढूंढने की बजाय केस बंद करने की कोशिश कर रही है। नजीब के गायब होने के एक दिन पहले संघ-भाजपा के छात्र संगठन ABVP के लोगों ने उसके साथ मारपीट की थी। इसीलिए ठीक तरह से जाँच किए बिना ही सरकार के इशारे पर केस को बंद किया रहा है।

Facebook Comments
More from IndiaMore posts in India »

Be First to Comment

%d bloggers like this: