Ghulam Nabi Azad said
Ghulam Nabi Azad said

Ghulam Nabi Azad said

कर्नाटक विधानसभा चुनाव खत्म हो गया है लेकिन सरकार बनाने के लिए सियासी पारा भी चढ़ने लगा है। चुनाव परिणाम आने के बाद बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, जिसे 104 सीटें मिली है। कांग्रेस को 78 सीटे प्राप्त हुई और जेडीएस को 38 सीटें मिली है। वहीं, अन्य के खाते में 2 सीटे गई है। अब बीजेपी और कांग्रेस में सरकार बनाने की कवादत शुरु हो गई है।

ऐसे में एक तरफ भारतीय जनता पार्टी (BJP) सरकार बनाने का दावा कर रही है, तो वहीं कांग्रेस और जेडीएस एक हो गई हैं। दोनों पार्टियों का कहना है कि उनके पास बहुमत का आंकड़ा है। लेकिन इसी बीच कांग्रेस वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा है कि बीजेपी उनके विधायकों को धमका रही है। उन पर दबाव बना रही है, उसे लोकतंत्र में भरोसा नहीं है।

ये खबर भी पढ़ें  राज्यसभा टिकट पर आम आदमी पार्टी में मचा घमासान, कुमार विश्वास के समर्थकों ने पार्टी दफ्तर में घुसकर किया प्रदर्शन

उन्होंने कहा कि अगर राज्यपाल ने संवैधानिक मूल्यों का पालन नहीं किया और हमें सरकार बनाने के लिए निमंत्रित नहीं किया, तो यहां खूनी संघर्ष होगा।

Ghulam Nabi Azad said

कांग्रेस नेता ने कहा कि कांग्रेस विधायकों के असंतुष्ट होने की अफवाहें फैलाई जा रही हैं, लेकिन वास्तव में बीजेपी असंतुष्ट है। आजाद ने कहा कि राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी बीजेपी के पास बहुमत का आंकड़ा नहीं है, हमारे (कांग्रेस-जेडीएस) पास 117 सीटें हैं। राज्यपाल पक्षपाती नहीं हो सकते हैं।

ये खबर भी पढ़ें  राहुल गांधी ने PM मोदी पर कसा तंज, कहा- 'प्रधानमंत्री जब भी विदेश दौरे पर जाएं, नीरव को वापस लेते आएं'

उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि क्या एक आदमी जो संविधान को बचाने के लिए राजभवन में बैठा है, उसे नष्ट कर देगा? उन्होंने कहा कि एक राज्यपाल को अपने सभी पुराने संबंध खत्म कर देने होते हैं, चाहे वो बीजेपी हो या राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ।