Gangster Munna Bajrangi's murder case

Gangster Munna Bajrangi’s murder case

Install Ravish Kumar App

Install Ravish Kumar App Ravish Kumar.

उत्तर प्रदेश की बागपत जिला जेल में अंडरवर्ल्ड डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की सोमवार (9 जुलाई) सुबह गोली मारकर हत्या कर दी गई। जेल में माफिया डॉन की हत्या से जेल प्रशासन से लेकर लखनऊ तक अधिकारियों में हड़कंप मच गया। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुट गई है।

इस बीच करीब 10 दिन अपने पति की हत्या का शक जाहिर कर चुकी मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह का कहना है कि हत्या में कई नेता, सरकार और पुलिस शामिल है। सीमा का आरोप है कि उनके पति की हत्या एक साजिश के तहत की गई है। बता दें कि, पिछले दिनों लखनऊ में हुई गैंगवार में बजरंगी के साले पुष्पजीत सिंह की हत्या कर दी गई थी।

गौरतलब है कि,  एक हफ्ते पहले ही सीमा सिंह ने चेताया था कि उनके पति को जान का खतरा है। सीमा सिंह ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के एक मंत्री समेत कई बड़े बीजेपी नेताओं का नाम लेकर सनसनी फैला दी है। सीमा सिंह ने अपने पति की हत्या के लिए केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा पर साजिश रचने का आरोप लगाया है।

ये खबर भी पढ़ें  गधों को भक्त, भक्त को गधा बनाना: कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने लगाई भक्तों की क्लास

समाचार एजेंसी IANS के हवाले से जनता का रिपोर्टर में छपी खबर के मुताबिक, मुन्ना बजरंगी की सोमवार को बागपत जिला जेल में हत्या हो जाने के बाद उसकी पत्नी सीमा सिंह ने केंद्रीय रेलमंत्री मनोज सिन्हा और पूर्व सांसद धनंजय सिंह समेत कई बड़े नेताओं पर उसके पति की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है।

सीमा का कहना है कि पूर्व सांसद धनंजय सिंह के साथ ही मनोज सिन्हा और पूर्व विधायक कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय ने कई लोगों के साथ मिलकर उसके पति की हत्या का षड्यंत्र रचा।

बागपत जिला अस्पताल में सीमा सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा, धनंजय सिंह, कृष्णानंद की पत्नी अलका और मनोज सिन्हा समेत प्रदेश के कई बड़े नेताओं ने शासन-प्रशासन से मिलकर मेरे पति की हत्या करा दी। ये लोग नहीं चाहते थे कि वह राजनीति में आगे जाए।

उसने कहा कि जेल में बंद सुनील राठी को किसी ने सुपारी दी या नहीं, इसकी जानकारी उसे नहीं है। लेकिन इससे पहले भी उसके पति पर कई बार हमले हो चुके हैं। इसकी शिकायत हमने सभी जगह की थी। लेकिन किसी ने भी हमारी बात को गंभीरता से नहीं लिया। आज वही हुआ, जिसका अंदेशा पहले से था। सीमा ने कहा कि पोस्टमार्टम के बाद वह मुन्ना का शव लखनऊ ले जाएगी और मुख्यमंत्री कार्यालय पर धरना देगी।

ये खबर भी पढ़ें  बिहार पहुंचे हार्दिक पटेल ने नीतीश कुमार से मिलने से किया इंकार, कहा- तेजस्वी से मुलाकात करना चाहूँगा

हालांकि इस हत्याकांड के पीछे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के डॉन सुनील राठी का हाथ बताया जा रहा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, मुन्ना बजरंगी की हत्या के पीछे पश्चिमी उप्र और उत्तराखंड में सक्रिय कुख्यात अपराधी सुनील राठी गैंग का हाथ बताया जा रहा है।

Gangster Munna Bajrangi’s murder case

पत्नी ने 10 दिन पहले ही जताई थी हत्या की आशंका

बता दें कि पिछले दिनों 29 जून को मुन्ना बजंरगी की पत्नी सीमा सिंह ने प्रेस कल्ब में प्रेस कांफ्रेंस करके अपने पति की हत्या कराए जाने की आशंका जताते हुए उसकी सुरक्षा बढ़ाने की मांग की थी।

प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा ने कहा था, “मेरे पति की जान को खतरा है। उन्हें उचित सुरक्षा दी जाए। यूपी एसटीएफ और पुलिस उनका एनकाउंटर करने की फिराक में हैं। झांसी जेल में मुन्ना बजरंगी के ऊपर जानलेवा हमला किया गया। कुछ प्रभावशाली नेता और अधिकारी मुन्ना की हत्या करने का षड्यंत्र रच रहे हैं।”

सीएम योगी ने दिए न्यायिक जांच के आदेश

ये खबर भी पढ़ें  अखिलेश के आगे योगी-मोदी पस्त: नूरपुर उपचुनाव में भाजपा की हार, सपा प्रत्याशी नईमुल हसन 6211 वोटों से जीते

जनता का रिपोर्टर की खबर के मुताबिक, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे मामले की जांच कराने का आदेश दिया है। इस बीच योगी आदित्यनाथ ने कहा, जेल में हत्या कैसे हो गई। इसकी जांच कराई जाएगी और इसमें जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नही जाएगा। पूरे मामले की रिपोर्ट मंगाई गई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘इस मामले में जेलर को सस्पेंड कर दिया गया है। न्यायिक जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जेल परिसर के भीतर इस तरह की वारदात होना गंभीर मामला है। इस पूरे केस की गंभीरता के साथ जांच की जाएगी और जो भी दोषी होगें उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।’