बिहार: किशनगंज से कांग्रेस सांसद असरारुल हक का दिल का दौरा पड़ने से निधन, PM मोदी, राहुल गांधी समेत कई राजनीतिक दलों के नेताओं ने जताया शोक

0
2
Congress MP Maulana Asrarul Haq passed away
Congress MP Maulana Asrarul Haq passed away

शुक्रवार (7 दिसंबर) को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और बिहार के किशनगंज से सांसद मौलाना असरारुल हक का  दिल का दौरा पड़ने की वजह से निधन हो गया। वह 76 वर्ष के थे। सांसद के निधन पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और तेजस्वी यादव समेत कई नेताओं ने गहरी संवेदना व्यक्त की है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, असरारुल हक गुरुवार रात एक धार्मिक कार्यक्रम (जलसा) में हिस्सा लेने गए थे, जहां ठंड लगने से उनकी तबीयत खराब हो गयी। उन्हें आनन-फानन में सर्किट हाउस लाया गया, जहां तबियत बिगड़ने के बाद स्थानीय अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में उन्हें दिल का दौरा पड़ा। अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

Congress MP Maulana Asrarul Haq passed away
Congress MP Maulana Asrarul Haq passed away

हक के बेटे सोहैल आलम ने बताया कि उनका अंतिम संस्कार पैतृक गांव ताराबडी में शुक्रवार को नमाज के बाद किया जाएगा। साल 2014 में हक कांग्रेस के टिकट पर किशनगंज लोकसभा सीट से लगातार दूसरी बार सांसद चुने गए थे। वे पहली बार 2009 में यहां से चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे थे।

असरारुल हक का जन्म 15 फरवरी, 1942 को हुआ था। कासमी की शिक्षा दारुल उलूम देवबंद में में हुई थी, जहां से उन्होंने स्नातकोत्तर की डिग्री हासिल की थी और वह ‘जमायत उलेमा-ए-हिंद’ के प्रदेश अध्यक्ष भी थे। वह ‘ऑल इंडिया मुसलिम पर्सनल लॉ ‘बोर्ड के सदस्य होने के साथ ही ‘ऑल इंडिया मिल्ली काउंसिल’ के अध्यक्ष भी थे। मौलाना कासमी के परिवार में तीन बेटे और दो बेटियां हैं। उनकी बेगम सलमा खातून का निधन नौ जुलाई, 2012 को हो गया था।

PM मोदी, राहुल गांधी समेत कई राजनीतिक दलों के नेताओं ने जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किशनगंज के सांसद मोहम्मद असरुल हक के निधन पर शोक जताते हुए कहा है कि वह दुखी हैं. दुख की इस घड़ी में शोक संतप्त परिवार और उनके समर्थकों के साथ मेरी संवेदना है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने किशनगंज के सांसद असरारुल हक के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “किशनगंज से कांग्रेस पार्टी के लोकप्रिय सांसद, मौलाना असरारुल हक साहब के निधन की ख़बर सुनकर बेहद दुःख हुआ। मैं असरारुल हक साहब के परिजनों के प्रति अपनी गहरी शोक और संवेदना व्यक्त करता हूँ।”

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किशनगंज सांसद मौलाना असरारुल हक कासमी के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है और अपने शोक संदेश में कहा है कि मौलाना असरारुल हक कासमी जी राजनीति में अपनी शुचिता और सरल हृदय के लिए जाने जाते थे। सामाजिक कार्यों में उनकी गहरी अभिरुचि थी औऱ वे अपने क्षेत्र में काफी लोकप्रिय थे।

किशनगंज में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की स्थापना में उनका अहम योगदान था। उनके निधन से सामाजिक और राजनीतिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है.’ साथ ही कहा कि दिवंगत आत्मा की चिर शांति तथा उनके परिजनों, प्रशंसकों और समर्थकों से दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

वहीं, राजद नेता व नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर श्रद्धांजलि अर्पित की है. उन्होंने लिखा है- ‘किशनगंज के लोकप्रिय सांसद मौलाना असरारूल हक के असामयिक निधन पर गहरी शोक संवेदना प्रकट भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हू. भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें.’

कांग्रेस नेता व बिहार के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने भी शोक जताते हुए ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है- ‘कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और बिहार के किशनगंज से सांसद मौलाना असरारुल हक कासमी के अचानक निधन की खबर सुनकर स्तब्ध हूं. हक साहब नेक दिल इंसान और जनता में अति लोकप्रिय थे. उनकी कमी जनता और कांग्रेस पार्टी को बेहद खलेगी. उनके निधन पर मैं अपनी शोक संवेदनाएं व्यक्त करता हूं.’