Press "Enter" to skip to content

सीबीआई संकट: मोदी सरकार द्वारा आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के खिलाफ देशभर में CBI दफ्तरों पर कांग्रेस का धरना प्रदर्शन, “गली गली में शोर है, चौकीदार चोर है” के लगे नारे

CBI row Congress protest

इस समय देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की विश्वसनीयता और प्रतिष्ठा दावं पर लगी हुई है। सीबीआई के अंदर ही दो सीनियर अधिकारियों ने एक दूसरे पर भष्टाचार और रिश्वतख़ोरी के गंभीर आरोप लगाए। वहीं, सीबीआई में जारी घमासान के बीच मोदी सरकार ने रातों रात अभूतपूर्व कदम उठाते हुए सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना दोनों को छुट्टी पर भेज दिया।

RAKESH-ASTHANA-PM-NARENDRA-MODI-AND-ALOK-VERMA
RAKESH-ASTHANA-PM-NARENDRA-MODI-AND-ALOK-VERMA

सीबीआई विवाद में सरकार का अचानक हस्तक्षेप हैरान कर देने वाला है। विरोधी दल मोदी सरकार के इस फैसले को अलोकतांत्रिक बता रहे हैं क्योंकि बिना चीफ जस्टिस और विपक्षी नेताओं के सलाह के प्रधानमंत्री अकेले ऐसे फैसले नहीं ले सकते हैं। खास तौर पर सीबीआई चीफ़ आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने को लेकर मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई है।

गौरतलब है कि, राकेश अस्थाना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के करीबी हैं। वहीं, आलोक वर्मा कई हाईप्रोफाइल केस की जांच कर रहे थे। जिनमें से एक राफेल फाइटर डील था। सीबीआई का पूरा मामला भी ‘राफेल घोटाला’ को लेकर हुआ है। सूत्रों के मुताबिक, राफेल सौदे को लेकर कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा के हाथ लग गए थे और जल्द ही वे इस मामले में फ़ैसला लेने वाले थे। लेकिन इससे पहले ही मोदी सरकार ने उन्हें छुट्टी पर भेज दिया।

CBI controversy Alok Verma Rafale deal
CBI controversy Alok Verma Rafale deal

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मोदी सरकार को आलोक वर्मा से खतरा पैदा हो गया था कि वो राफेल को लेकर कोई बड़ा खुलासा ना कर दें। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि यह फैसला “राफेल फोबिया” के कारण लिया गया, क्योंकि वह (आलोक वर्मा) राफेल विमान सौदे से जुड़े कागजात एकत्र कर रहे थे। कांग्रेस ने सीबीआई के निदेशक को छुट्टी पर भेजे जाने को एजेंसी की स्वतंत्रता खत्म करने की अंतिम कवायद बताया है।

इसी बीच, केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के मोदी सरकार के आदेश के खिलाफ कांग्रेस आज यानी शुक्रवार (26 अक्टूबर) को पूरे देश भर में प्रदर्शन किया। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस ने राजधानी दिल्ली में दयाल सिंह कॉलेज से सीबीआई मुख्यालय तक  मार्च निकाला गया।

Congress CBI protest
Congress CBI protest
Congress CBI protest
Congress CBI protest

वहीं, कांग्रेस के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली में सीबीआई मुख्यालय के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किए गए। राहुल ने बैरिकेड पर चढ़कर धरना दिया। सीबीआई मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन के बाद राहुल ने गिरफ्तारी दी। इसके बाद वे लोधी रोड पुलिस स्टेशन गए। जहां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ दिल्ली के लोधी कॉलोनी पुलिस स्टेशन में कांग्रेस के कई नेता मौजूद थे।

इसके बाद राहुल गांधी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “पीएम भाग सकते हैं, छिप सकते हैं, लेकिन आखिरकार सच्चाई सबके सामने आ जाएगी। सीबीआई निदेशक के हटाने से उनकी कोई मदद नहीं होगी। पीएम मोदी ने घबराहट में सीबीआई निदेशक के खिलाफ कार्रवाई की है।”

वहीं, राहुल गांधी ने शुक्रवार रात ट्वीट कर कहा, ‘राफेल घोटाले की जांच ना हो पाए इसलिए प्रधानमंत्री ने CBI प्रमुख को असंवैधानिक तरीक़े से हटा दिया। CBI को पूरी तरह नष्ट किया जा रहा है। कांग्रेस पार्टी, कल, इसके विरोध में देश के हर CBI दफ्तर के बाहर प्रदर्शन करेगी। मैं CBI मुख्यालय, दिल्ली, सुबह 11 बजे से, इसका नेतृत्व करूंगा।’

Congress CBI protest
Congress CBI protest

कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि पार्टी सीबीआई निदेशक के खिलाफ आदेश को तुरंत वापस लेने की मांग के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस पूरे प्रकरण पर देश से माफी मांगने की मांग की। हालांकि, गुरुवार को सीबीआई ने स्पष्ट कर दिया कि आलोक वर्मा को सीबीआई प्रमुख के पद से नहीं हटाया गया है और वह केवल छुट्टी पर हैं। बता दें कि आलोक वर्मा ने केंद्र सरकार के छुट्टी पर भेजे जाने के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है, जिस पर आज सुनवाई हुई।

सीबीआई संकट पर देशभर में कांग्रेस का प्रदर्शन

दिल्ली में राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस का प्रदर्शन

Congress CBI protest
Congress CBI protest
Congress CBI protest 2
Congress CBI protest 2
Congress CBI protest
Congress CBI protest
Congress CBI protest 3
Congress CBI protest 3
Congress CBI protest 4
Congress CBI protest 4
Congress CBI protest 4
Congress CBI protest 4
CBI row Congress protest

सीबीआई में चल रहे विवाद को लेकर दिल्ली में कांग्रेस कार्यकर्ताओं का विरोध प्रदर्शन

कई प्रदर्शनकारी कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया

Congress CBI protest
Congress CBI protest

राजस्थान: जयपुर में कांग्रेस का प्रदर्शन

राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट की अगुवाई में पार्टी के हजारों कार्यकर्ताओं ने जयपुर में मार्च निकाला और मोदी सरकार द्वारा सीबीआई प्रमुख को छुट्टी पर भेजे जाने का विरोध किया।

तेलंगानाः हैदराबाद में सीबीआई ऑफिस के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ता का प्रदर्शन

कर्नाटक: बेंगलुरु में कांग्रेस का प्रदर्शन

 

चंडीगढ़ में कांग्रेस का प्रदर्शन

 

Facebook Comments
More from IndiaMore posts in India »

Be First to Comment

%d bloggers like this: