Press "Enter" to skip to content

BJP मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा- 2047 में फिर 1947 जैसी विभाजन की स्थिति होगी, लोग बोले- “बाँटने की राजनिती बंद करिए साहब, देश का युवा बँटना नही बढ़ना चाहता है”

BJP’s Giriraj Singh sees repeat of 1947 in 2047

देश में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार बनने के बाद से यह आरोप लगते रहे हैं कि बीजेपी लोगों को बांटने की राजनीति कर रही है। गौरतलब है कि, बीजेपी सरकार सत्ता में आने के बाद से देश में सांप्रदायिक हिंसा बड़ी है। कई बार बीजेपी नेता व विधायक भी हिन्दू-मुस्लिम को लेकर विवादित बयान भी देते रहे हैं।

इसी बीच, अब अपने विवादास्पद बयानों को लेकर अक्सर मीडिया सुर्खियों में रहने वाले बिहार से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री शांडिल्य गिरिराज सिंह ने भविष्यवाणी की है कि, जिस प्रकार 1947 में धर्म के आधार पर देश का विभाजन हुआ, 2047 में फिर से वैसी ही स्थिति होगी।

Giriraj Singh
Giriraj Singh

समाचार एजेंसी भाषा के हवाले से एक न्यूज वेबसाइट में छपी खबर के मुताबिक, रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि ‘1947 में धर्म के आधार पर देश का विभाजन हुआ, पुनः 2047 तक वैसी परिस्थिति होगी।’

उन्होंने आगे कहा है ‘देश विरोधियों के समर्थन से जेएनयू-एएमयू जैसे लोग विभाजन की बात करेंगे। 72 साल में जनसंख्या 33 करोड़ से 136 करोड़ हो गई। विभाजनकारी ताक़तों का जनसंख्या विस्फोट भयावह है। देश बचाने को गाँव-गाँव नगर-नगर से आंदोलन होना चाहिए।’

BJP’s Giriraj Singh sees repeat of 1947 in 2047

गिरिराज सिंह के इस ट्वीट पर बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने वोटों के ध्रुवीकरण के लिए लोगों को बांटने का आरोप लगाते हुए कहा कि धर्मनिरपेक्ष लोगों पर मुसलमानों को वोट बैंक बनाने का आरोप लगाने ये लोग समाज को बांटने वाली इस तरह की बातें कर हिंदुओं को वोट बैंक बनाने की फिराक में लगे हुए हैं।

वहीं, गिरिराज सिंह अपने इस बयान को सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर भी आ गए है। एक यूजर ने ट्वीट करते हुए लिखा, “बाँटने की राजनिती बंद करिए साहब, देश का युवा बँटना नही बढ़ना चाहता है।” वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा, “यह प्रगति है या अधोगति या सदगति।”

गौरतलब है कि बिहार के नवादा से सांसद अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। इतना ही नहीं, हाल ही में उन्होंने ट्विटर पर अपने नाम में शांडिल्य शब्द जोड़ा है।

Facebook Comments
More from IndiaMore posts in India »

Be First to Comment

%d bloggers like this: