Press "Enter" to skip to content

योगी सरकार ने संगम नगरी इलाहाबाद का नाम बदलकर रखा ‘प्रयागराज’, लोग बोले- ‘अब एमजे अकबर का भी नाम ‘हरिश्चंद्र’ रख दो, सारे पुराने पाप धुल जाएंगे’

Allahabad now Prayagraj

उत्तर प्रदेश में जब से बीजेपी नेतृत्व में योगी आदित्यनाथ सरकार बनी है तब से प्रदेश में सिर्फ सरकारी इमारतों को भगवा रंग करने और प्रतिष्ठित रेलवे स्टेशन के नाम बदलने का काम ही होता नज़र आ रहा है। जबकि योगी राज में अपराधियों के हौसले बुलंद है। आए दिन ह्त्या, बलात्कार और छेड़छाड़ की खबरे सामने आती रहती है। इतना ही नहीं, कानून व्यवस्था की तो धज्जिया उड़ चुकी है। एंकाउंटर के नाम पर यूपी पुलिस निर्दोष लोग को अपना निशाना बनाकर हत्या कर देती है।

इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है कि योगी सरकार ने प्रतिष्ठित रेलवे स्टेशन मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलकर ‘पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन’ करने के बाद यूपी स्थित संगम नगरी इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज रखने का फ़ैसला किया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार (16 अक्टूबर) को यह महत्वपूर्ण फैसला किया।

 

Allahabad now Prayagraj
Allahabad now Prayagraj

न्यूज एजेंसी भाषा के हवाले से एक न्यूज वेबसाइट में छपी खबर के मुताबिक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में तय किया गया कि इलाहाबाद का नाम अब प्रयागराज होगा। बैठक के बाद राज्य सरकार के प्रवक्ता स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने पत्रकारों को बताया कि प्रयागराज नाम रखे जाने का प्रस्ताव कैबिनेट की बैठक में आया, जिसे मंजूरी प्रदान कर दी गई। ऋगवेद, महाभारत और रामायण में प्रयागराज का उल्लेख मिलता है।

Allahabad now Prayagraj
Allahabad now Prayagraj

उन्होंने कहा कि सिर्फ वह ही नहीं, बल्कि समूचे इलाहाबाद की जनता, साधु और संत चाहते थे कि इलाहाबाद को प्रयागराज के नाम से जाना जाए। दो दिन पहले जब मुख्यमंत्री ने कुंभ से संबंधित एक बैठक की अध्यक्षता की थी, तो उन्होंने खुद ही प्रस्ताव किया था कि इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किया जाना चाहिए। सभी साधु संतों ने सर्वसम्मति से इस प्रस्ताव पर मुहर लगाई थी।

वहीं, जनता का रिपोर्टर की खबर के मुताबिक, इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज रखे जाने को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर चर्चा हो रहा है। भारी संख्या में लोग योगी सरकार के इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं, वहीं कुछ यूजर्स केंद्रीय मंत्री एम.जे.अकबर पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों को लेकर तंज कस रहे हैं। एक यूजर ने तंज सकते हुए लिखा है कि एमजे अकबर का भी नाम ‘हरिश्चंद्र’ रख दो, सारे पुराने पाप धुल जाएंगे।

सोशल मीडिया पर लोगों ने लिए मजे-

Facebook Comments
More from IndiaMore posts in India »

Be First to Comment

%d bloggers like this: