AAP not joining 2019 Grand Alliance
AAP not joining 2019 Grand Alliance

AAP not joining 2019 Grand Alliance

2019 लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के खिलाफ रणनीति बना रहे विपक्ष को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, दिल्ली के मुख्यमंत्री और राज्य में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (AAP) के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने विपक्ष के महागठबंधन का हिस्सा बनने से इनकार कर दिया है।

AAP संयोजक ने गुरुवार (9 अगस्त) को हरियाणा में ऐलान कर दिया है कि उनकी पार्टी 2019 में बीजेपी के खिलाफ महागठबंधन का हिस्सा नहीं है। दरअसल, हरियाणा के रोहतक में एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान केजरीवाल से सवाल पूछा गया ‘जो गठबंधन की बातें चल रही हैं, ये कहा जा रहा है कि मोदी के खिलाफ सारा विपक्ष इक्कट्ठा होगा क्या आप उसमे शामिल होंगे?

ये खबर भी पढ़ें  बिहार: नालंदा में एक अवैध पटाखा फैक्टरी में धमाके से 3 बच्चों सहित 5 लोगों की मौत, कई घायल

इस सवाल के जवाब में केजरीवाल ने कहा कि मेरी सीधी राजनीति जनता की राजनीति है, जनता के विकास की राजनीति है जनता के हितों की राजनीति है हमारी कोई गठबंधन को राजनीति नहीं हमारी सीधी जनता की राजनीति है।

केजरीवाल ने कहा, ”गठबंधन की राजनीति मेरे लिए मायने नहीं रखती। मेरे लिए राजनीति जनता और उसका विकास है। जो हमने दिल्ली में पिछले तीन साल में किया है, इन पार्टियों ने 70 साल में उसका थोड़ा सा काम भी करके नहीं दिखाया।”

ये खबर भी पढ़ें  किसान आंदोलन कुचलने के लिए छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार का किसानों पर हमला
AAP not joining 2019 Grand Alliance

बता दें कि अभी हाल ही में कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी की शपथ ग्रहण में केजरीवाल की मौजूदगी हो गया फिर बीते शनिवार को दिल्ली के जंतर मंतर पर मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में 34 बच्चियों के साथ हुए यौन दुराचार के विरोध का मामला हो,

ये खबर भी पढ़ें  सुप्रीमकोर्ट में मोदी सरकार को हराने के लिए केजरीवाल सरकार ने खड़ी की देश के नामी वकीलों की फ़ौज

केजरीवाल विपक्षी दलों के साथ जिस तरह खड़े दिखाई दिए उससे लग रहा था कि आम आदमी पार्टी महागठबंधन के हिस्सा बन सकती है। लेकिन राजनीतिक जानकारों का मानना है कि शायद इस संभावित महागठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस का उसको कम तवज्जो देना रास नहीं आया।